प्रकृति के साथ खिलवाड प्राणीमात्र के लिए बेहद घातक:- बोहरा


ओरण-गोचर व वृक्षों की हुई पूजा, पौधारोपण कर बांधे परिण्डे, ओरण-गोचर संरक्षण का लिया संकल्प

बाड़मेर । 26 अप्रैल 2022 । जिला मुख्यालय से 20 किमी दूर स्थित राणीगांव में वर्ष 2002 में पूज्य संत मोहनपुरीजी महाराज के सानिध्य में हुए ओरण-गोचर बचाओ आन्दोलन के स्मृति में जिले भर सहित राज्य के अलग-अलग स्थनों पर सामुदायिक धरोहर को संरक्षित करने को लेकर 26 अप्रैल मंगलवार को ओरण दिवस के रूप में मनाया गया । जिस कड़ी में धर्मपुरीजी महाराज की ओरण में ओरण बचाओ आन्दोलन के जिला संयोजक मुकेश बोहरा अमन के नेतृत्व में युवाओं व पर्यावरण प्रेमियों ने हर्ष और उल्लास के साथ ओरण दिवस मनाया । इस मौके पर ओरण में ओरण-गोचर की पूजा-अर्चना कर वृक्षों को रक्षासूत्र बांधे गए तथा पौधारोपण व परिण्डे लगाएं ।

ओरण दिवस की 20वीं वर्षगांठ के अवसर पर ओरण बचाओ आन्दोलन, बाड़मेर के जिला संयोजक एवं सामाजिक कार्यकर्ता मुकेश बोहरा अमन ने कहा कि भोग और रोग के विनाशकारी दौर में हम हमारे सांस्कृतिक मूल्यों व अमूल्य धरोहरों को भूलते जा रहे है । और हर व्यक्ति अधिक पाने की मृगतृष्णा में प्रकृति के साथ खिलवाड़ कर रहा है, जो मानव जाति ही नही बल्कि प्राणीमात्र के लिए बेहद घातक साबित हो रहा है । राज्य भर में ओरण, गोचर, देवबन, रूंध आदि चारागाह पर हो रहे अतिक्रमण इसका जीवन्त उदाहरण है । अमन ने कहा कि हमें हमारी संस्कृति, धरोहर व प्रकृति को बचाने व संरक्षित करने के लिए आगे आना होगा । समुदाय की चेतना के साथ-साथ हमें सता व प्रशासन में बैठे लोगों को भी जगाने की जरूरत है । ओरण-गोचर पर अतिक्रमण के मामले निरन्तर प्रकाश में आ रहे है, परन्तु जिम्मेदार मौन बैठे है जिसके चलते अतिक्रमियों के हौंसले दिनों-दिन बुलन्द हो रहे है ।

ओरण बचाओ आन्दोलन से जुड़े तुलसाराम देवासी ने कहा कि ओरण दिवस के अवसर पर श्री धर्मपुरीजी महाराज की ओरण राणीगांव में टीम की ओर से ओरण-गोचर की पूजा-अर्चना कर राज्य भर में ओरण, गोचर, देवबन, रूंध आदि चारागाह के संरखण की कामना की गई । वहीं ओरण परिसर में पूर्व में लगे वृक्षों को रक्षासूत्र बांधे गए । ओरण में पौधारोपण कर पंछियों के लिए परिण्डे लगाएं गए ।

ओरण दिवस के कार्यक्रम में ओरण बचाओ आन्दोलन से जुड़े कार्यकर्ता जितेन्द्र कुमार भंसाली, हरीश बोथरा, लाभुराम देवासी, दिलीप भाई, भीखाराम मंघवाल, मनोहर सिंह, हनुमानाराम देवासी, रिडमलराम, तुलसाराम, कार्तिक बोहरा, पदमाराम सहित कई युवा साथी और प्रकृति-पर्यावरण प्रेमी उपस्थित रहे ।
 

#news #hindi #hindinews #newsinhindi #upnews #indianews #politics #DDBharati #DDBharatinews #Indiannews #newsdaily #khabar #tazakhabar #India #rajasthan #gujarat #newspaper #magzine #currentaffairs


No Of View On This News: